English Kaise Sikhe और इंग्लिश भाषा को कैसे Improve करे

आज के इस पोस्ट में जानेंगे की अँग्रेजी भाषाको बेहतर कैसे बनाते है। अंग्रेजी भाषा के International Language  होने के कारण और हमारे देश मे कुछ ज्यादा ही चलन होने के कारण हमारे लिए अंग्रेजी का ज्ञान होना बेहद जरूरी हो जाता है . हमारे देश मे केवल ज्ञान से ही काम नही चलता। English Language पर अच्छी पकड होना जरूरी है .

जो कि बहुत ही टेढी खीर होता है .क्योकि अंग्रेजी का नाम लेते ही 90 प्रतिशत लोगो के तो होश उड जाते है. चाहे उन्हे इंग्लिश का थोडा बहुत ज्ञान है .फिर भी कोई फायदा नही। इसका कारण है कि अंग्रेजी कोई Subject नही है, यह एक भाषा है, और अगर हमे किसी Subject का थोडा बहुत ज्ञान होता है तो वो सही माना जाता है.  लेकिन अगर हमे किसी भाषा का थोडा बहुत ज्ञान होता है तो और भी गलत हो जाता है क्योकि हम से छोटे या कहे जो अनपढ होते है वे हमसे आशा करते है कि हमे English आती है क्योकि हम पढे लिखे है लेकिन यह तो हम ही जानते है कि हमे कितनी English आती है कुछ जरूरी टिप्स देकर मै आपको अंग्रेजी के हम से न आने के कारण और उसे और अच्छे से सीखने के उपायो पर चर्चा करूंगा। मै केवल उपाय बता सकता हूँ सीखना फिर भी आपको ही है।

English केसे सीखे

अंग्रेजी क्या है (What is English in hindi)

English कोई Subject नही है जिसकी जितनी Knowledge हम इकट्ठा करते है ,उतना हमे वह सब्जेक्ट आ जाता है. इंग्लिश एक भाषा है उसका एक लेवल होता है कि हमे इंग्लिश बोलना, लिखना और पढना आना चाहिए। यानि की हमे कम से कम एक लेवल तक भाषा का ज्ञान होना जरूरी है . वर्ना वह हमारे किसी काम की नही होती है क्योकि हमे थोडी सी इंग्लिश आती है लेकिन जैसे ही कोई porfect English बोलने वाला सामने आता है .तो हम फुस्स हो जाते है, और हमे लगता है हमे तो एक प्रतिशत भी इंग्लिश नही आती है। इसलिए इंग्लिश के भाषा होने के कारण उसका कम से कम एक level पूरा करना हमारे लिए जरूरी होता है. वो होता है इंग्लिश पढना दूसरा होता है लिखना और फिर हम बोलने की Pratice कर सकते है। लेकिन अगर हम सीधे बोलना सीखना चाहते है तो वह भी सम्भव है उसके लिए केवल व्यवहार की आवश्यकता होती है।

अंग्रेजी की जरूरत क्यूँ है

आज जैसे जैसे दुनिया आधुनिक होती जा रही है उसके साथ साथ ही अंग्रेजी का नाम भी बढता जा रहा है . क्योकि English एक अन्तर्राष्ट्रिय भाषा है और यही वह कारण है कि इंग्लिश सीखना सभी के लिए बहुत ही जरूरी हो गया है .अगर किसी को किसी अन्य देश मे जाकर नौकरी करनी है तो अगर उसे इंग्लिश आती है तो वह कर सकता है लेकिन भारत देश मे तो अपने ही देश मे नौकरी करने, पढाई करने और कही घूमने जाने के लिए इंग्लिश भाषा का ज्ञान बहुत जरूरी है . क्योकि हर डिग्री और Deploma आपको इंग्लिश मे ही करना होता है फिर चाहे आपकी मातृभाषा हिन्दी है या आपकी क्षेत्रिय भाषा हिन्दी या फिर कोई और है लेकिन आप अपने जीवन मे कुछ बनना चाहते है तो आपको इंग्लिश आना ही चाहिए क्योकि भारत मे शिक्षा का मतलब ही इंग्लिश रह गया है अगर आपसे केवल इंग्लिश भी अच्छे से आती है तो आपको अच्छी सी नौकरी आसानी से मिल सकती है।

SSC क्या है -SSC Exam की तैयारी कैसे करे।

हम अंग्रेजी मे कहॉं है

सबसे पहले तो हमे यही पता करना है कि हमारी Knowledge English मे कितनी है हम इंग्लिश भाषा को कितना जानते है हम कितनी इंग्लिश बोल सकते है और कितनी लिख सकते है. अगर हम अपने बारे मे अपनी कमियों के बारे मे थोडी सी नोलिज इक्ट्ठा कर ले तो हमारे लिए थोडा से आसान हो जाता है।

College Professor कैसे बने

आपको इंग्लिश न आने के कारण

जब हम इंग्लिश सीखते है तो हम इंग्लिश सीखते समय बहुत सारी ऐसी कमियां छोड देते है कि हम अपना कोर्स या पढाई पूरा होने के बाद भी इंग्लिश नही सीख पाते। इसके बाद हम इंग्लिश Speaking Course करते है और उसे पूरा करने के बाद भी रिजल्ट होता है डबल जीरो। इतना ही हम करते है ऐसा ही हमे रिजल्ट मिलता है हमारा इगो और आलस हमे कुछ नही करने देता। अब आप सोचेंगे कि कैसा इगो कैसा आलस तो मै नीचे कुछ पाइंट दे रहा हॅूं जिन पर ध्यान देने की जरूरत है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]1[/wps_dropcap]Pratice ना  करना :- इंग्लिश सीखने या पढने के बाद हम किताबे एक साइड रखते है और अपने अन्य कामो मे लग जाते है क्योकि हम समझते है कि School मे या Couching मे तो हम इंग्लिश पढ कर आये ही है हमे तो इंग्लिश आसानी से आ जायेगी। लेकिन ऐसा नही होता है. हमे घर पर आकर प्रैक्टिस करना बहुत ही जरूरी होता है।Pratice न करना ही हमारी इंग्लिश पर कमजोर पकड को हमे समझाता है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]2[/wps_dropcap]Word याद न आना :- ये हमारी वाकेबरी की नोलिज की कमी होती है कई बार हम बालने की कोशिश तो करते है लेकिन हमारे वे वर्ड याद नही आते है जिन्हे हम इंग्लिश के उस वाक्य मे बोलना चाहते है चाहे वे वर्ड हमने कुछ दिन या समय पहले ही याद किये हो लेकिन समय आते ही सब उड जाता है और हमारी समझ मे नही आता कि क्या बोले। केवल एक वर्ड के कारण हमारा पूरा वाक्य ही रूक जाता है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]3[/wps_dropcap]Grammer:- जैसे ही हम बोलना शुरू करते है हमे सबसे पहले ग्रामर से लडना पडता है कुछ लोग कहते है कि ग्रामर पर ध्यान न दे केवल बोलने पर ध्यान दे। लेकिन जैसे ही हम बिना ग्रामर के बोलना शुरू करते है। हमारे द्वारा बोले गये वाक्यो का वह अर्थ ही बदल जाता है जो हम सामने वाले से कहना चाहते है। ग्रामर जरूरी नही होता है लेकिन एक लेवल तक का ग्रामर तो बहुत ही जरूरी होता है क्योकि उसके बिना ही तो हम इंग्लिश मे इतने कमजोर है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]4[/wps_dropcap]बोलने के माहौल न मिलना :- ज्यादातर लोगो को बोलने के लिए माहौल नही मिलता है उनके आसपास ऐसे लोग या दोस्त होते ही नही है जिनके पास जाकर वे बाते कर सके और अपनी इंग्लिश को मजबूत कर सके यह सबसे बडा कारण है जिससे हम इंग्लिश नही सीख पाते है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]5[/wps_dropcap]आत्मविश्वास की कमी :- हममे आत्म विश्वास की कमी होना एक बहुत बडा कारण है कि हम इंग्लिश नही बोल पाते है। क्योकि हमारी हिम्मत ही नही होती है कि हम किसी के सामने इंग्लिश मे बात कर सके। हमे लगता है कि अगर कोई गलती हो गयी तो क्या होगा। सामने वाला क्या सोचेगा। यही सब बाते हमारे आत्मविश्वास को गिरा देता है और हम कभी हिम्मत नही जुटा पाते है कि हम इंग्लिश बोल सके ।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]6[/wps_dropcap]सामने वाले के बिना आत्मविश्वास तोडना :- कई बार ऐसा होता है कि हम इंग्लिश मे बाते तो करना चाहते है और हम अपने किसी दोस्त के सामने बोलने भी लगते है लेकिन जैसे ही हम बोलना शुरू करते है और पहली ही गलती पर दोस्त हमे कहने लगता है कि ओ अंग्रेज की औलाद चल छोड इसे और …. … …. …. …. और हमारा आत्मविश्वास टूट जाता है। और फिर कम से कम हम उस दोस्त के सामने तो बिल्कुल भी अंग्रेजी मे बात नही करते है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]7[/wps_dropcap]जल्दबाजी करना :- हम जब अंग्रेजी सीखना शुरू करते है तो हम चाहते है कि तीन महिनो मे हम इंग्लिश के मास्टर बन जाये। हम ये नही सोचते है कि हिन्दी सीखने मे भी हमने बहुत समय लगाया था यानी लगभग 3 से 4 साल का समय। लेकिन इंग्लिश के मामले मे हम सब भूल जाते है क्योकि हम अपने आप को ज्यादा समझदार समझने लगते है।

English Kaise Sikhe इंग्लिश Improve करने के उपाय

यहॉ मै आपको आपकी इंग्लिश को अच्छा बनाने के कुछ उपाय बता रहा हूॅं मै केवल उपाय बताउंगा उन्हे अमल मे आपको खुद ही लाना होगा और जब तक आप अपना आलस छोडकर कोशिश नही करते हो सब बेकार है तो कुछ उपाय नीचे दे रहा हॅू।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]1[/wps_dropcap]English गाने सुने :- यह एक बहुत ही अच्छा साधन है इंग्लिश सीखने का। शुरू मे आपको कुछ समझ नही आयेगा लेकिन धीरेः-धीरे आपको गाने के बोल समझ मे आने लगेंगे। आपको एक ही गाने को बार बार सुनना है जिससे वह आपको पूरी तरह समझ मे आ जाये। अपने मोबाईल या कम्प्यूटर की लीड कान मे लगाये और गाना सुनने के लिए बैठ जाये और समझना शुरू करे।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]2[/wps_dropcap]अंग्रेजी न्यूज सुने/देखे :- म्यूजिक के साथ अगर आप इंग्लिश मे न्यूज भी सुनते है तो आपके लिए नहले पर दहला वाली बात हो जाती है क्योकि इंग्लिश न्यूज सरल भाषा मे होने के कारण आसानी से समझ मे आते है साथ ही हमे ग्रामर और भाषा दोनो ही क्लीयर होते है। यह वह साधन है जिससे अंग्रेजी सीखना आसान हो जाता है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]3[/wps_dropcap]अंग्रेजी फिल्मे देखे :- इंग्लिश फिल्मे देखना भी हमारी इंग्लिश सीखने मे मदद करता है क्योकि हम चलचित्र देख कर कई बार तो ऐसे ही अंदाजा लगा लेते है कि किरदार ने क्या कहा होगा और जब हम उस बात को सुनते है तो हम समझ जाते है कि उसने क्या कहा था और धीरे धीरे हम इंग्लिश समझने लगते है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]4[/wps_dropcap]Vocabulary मजबूत करे :- अंग्रेजी सीखने के साथ ही नये नये शब्दो का अभ्यास भी करना बहुत जरूरी है क्योकि अगर हमारी वर्ड पावर अच्छी है तो ही हम इंग्लिश अच्छे से बोल सकते है क्योकि बिना वोकेबरी के तो हम यही सोचते रह जाते है कि इस वाक्य को कैसे बोले या इसके बदले क्या बोले और हमारे पास कोई जवाब नही होता है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]5[/wps_dropcap]बोलने के साथ साथ इंग्लिश मे सोचे :- आप इंग्लिश मे बोलने की कोशिश करते है और सोचते हिन्दी मे है ये भी वो कारण होता है कि आप इंग्लिश अच्छे से नही बोल पाते है अगर आप इंग्लिश मे सोचना शुरू कर दे तो रिजल्ट कुछ और हो सकता है और वह पोजिटिव ही होगा।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]6[/wps_dropcap]इंग्लिश बोलने वालो के साथ समय व्यतीत करे :- आप कोशिश करके ऐसे लोगो को ढॅूंढे जो इंग्लिश मे बाते करते हो भले ही आप उन्हे न जानते हो या वे आपको न जानते हो और जानने वाले है तो बहुत ही अच्छा है वर्ना उन न जानने वाले लोगो के साथ नजदीकी बढाये और उनकी बाते सुने। वे कैसे बोलते है और आप कैसे बोलते है अन्तर को समझे।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]7[/wps_dropcap]Internet पर किसी App का सहारा ले :- हम इंटरनेट से कोई एप डाउनलोड करके भी इंग्लिश सीख सकते है। इंटरनेट पर बहुत सारे एप है जो आपको इंग्लिश मे परफेक्ट करने की बात करते है और यही तो आप चाहते है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]8[/wps_dropcap]Google पर इंग्लिश मे सर्च करे :- अगर आपको इंटरनेट पर कोई टॉपिक ढूंढना है तो इंग्लिश मे ढूंढने की कोशिश करे और फिर उसे इंग्लिश मे ही पढने की और समझने की कोशिश करे।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]9[/wps_dropcap]Social Media पर इंग्लिश लोगो को Call करे :- फेसबुक, ट्विटर और गुगल प्लस पर ऐसे लोगो को फोलो करे जो इंग्लिश बोलते हो और उनसे वार्तालाप भी करे जिससे आपको आपके हिसाब से इंग्लिश पढने और समझने को मिलेगी।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]10[/wps_dropcap]इंग्लिश मे लिखे :- यदि आप अपना कोई ब्लॉग चला रहे है तो उसे इंग्लिश मे लिखे इससे आपकी इंग्लिश मजबूत होगी और अगर आप इंग्लिश मे नही लिख पा रहे है तो गुगल ट्रांसलेट की सहायता ले और पूरी कोशिश करे।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]11[/wps_dropcap]इंग्लिश Blog पढे :- आप जो कुछ भी इंटरनेट पर पढना पसंद करते है उसे अपनी भाषा मे न पढकर इंग्लिश मे पढने की कोशिश करे । इससे आपकी इंग्लिश अच्छी होगी और आप जल्द ही इंग्लिश बोलने लग जाओंगे क्योकि यह एक बहुत ही कारगर उपाय है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]12[/wps_dropcap]इंग्लिश किताबे पढे :- इंटरनेट की तरह ही यह भी बहुत ही उपयोगी तरीका है आप इंग्लिश किताबे पढ कर भी इंग्लिश सीख सकते है लेकिन ध्यान रहे किताबे कहानी के रूप मे होनी चाहिए।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]13[/wps_dropcap]Translate:- इंग्लिश मे ही सोचे और इंग्लिश मे ही बोले। हिन्दी मे सोच कर इंग्लिश मे बोलना सबसे गलत होता है यदि आपको कोई वर्ड नही आता है तो आप उसे हिन्दी मे भी बोल सकते है।

[wps_dropcap size=”1″ color=”#ffffff” background=”#35ce8d” border=”0 none” radius=”0″]14[/wps_dropcap]ग्रामर से दूर रहे :- अगर आप अपनी इंग्लिश को imporve करना चाहते हो तो ग्रामर को हाथ भी नही लगाना है . क्योकि अब तक हम ग्रामर ही सीखते आ रहे है लेकिन हम इंग्लिश नही सीख पाते है अब हमे भाषा सीखनी है ग्रामर जितनी सीखनी थी हम सीख चुके।

यदि आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो Like करें अपने दोस्तों के बीच शेर करें तथा कोई भी Question हो तो नीचे Comment में जरूर पुछें।

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम vivek dobriyal है. और में एक blogger हु। मैने engineering की है। और अब अपने blogs के ज़रिए infromation को सभी के साथ शेयर करता हु। मेरे blogs हमेशा research based होते है और मै अपने visitors को हमेशा सही जानकारी ही देने की कोसिस करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here