Cpanel क्या होता है और इसका काम क्या हे

दोस्तों आज हम post में जानेंगे कि cpanel क्या होता है. cpanel का use क्यो किया जाता है. cpanel में कौन से tools होते है. cpanel को use करने के benefits क्या होते है.

दोस्तों cpanel एक linux os based software है. जो आप की website को बिना किसी coding को use किये आप को website को manage करने की शुभिधा देता है. अगर आप कोई hosting plan लेते है और आप को वहाँ पर cpanel नही दिया जाता है तो सोचिए आप को website के हर काम को करने के लिए आप के server में coding की मदद से files को configure और manage करना होगा जो कि सभी के लिए possible नही है.

और यदि आप के server में cpanel है तो हर काम को सुभिधा पूर्ण तरीके से और जल्दी कर लेंगे. चाहे वो files को manage करना हो, security issue check करना हो या फिर traffic को monitor करना हो. तो चलिए विस्तार से जानते है कि cpanel क्या होता है और इसका use क्यो किया जाता है.

Cpanel क्या है ?

Cpanel क्या है

Cpanel linux operating based software है जो हमे अपने server की graphical representation provide कराता है. Cpanel एक तरह का management software है जो हमे website और उस से जुड़ी चीज़ों को manage करने के लिए बनाया गया है. यहाँ आप को बहुत सारे options मिल जाती है website से जुड़ी चीज़ों के लिए जैसे कि storage details, php, apache servser, backups etc लगभग सभी चीज़े उपलब्ध है.

अगर आप cpanel में अपने website को Host करते है, तो आप को यहाँ सभी चीज़ों को manage करना easy हो जाता है. आप सिर्फ एक click पर किसी भी file को configure कर सकते है. और यदि आप बिना cpanel के website को direct server में host करते है तो यहाँ पर आप को बहुत ही मुश्किल होगी. आप को जगह जगह पर codes डालने होंगे और अगर कोई mistake हो जाती है तो उसको solve करने में काफी परेशानी होती है. आप को जल्दी कोई भी bug नही मिलता है. मगर जब आप cpanel use करते है तो आप को यह पर graphical interface मिलता है.

जो आप की सभी files को किसी black codes की तरह नही दिखता है. बल्कि यह पर आप को सभी चीज़े सही और clear दिखाई देते है. cpanel का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि, इसे कोई भी व्यक्ति थोड़ी सी technical जानकारी की मदद से यहाँ पर अपनी website को manage कर सकता है। अपने server में लेकिन अगर आप बिना cpanel के website को host करते है तो आप को बहुत अच्छी जानकारी होनी चाहिए computer और webservers के बारे में वर्ना आप website को manage नही कर सकते है.

Cpanel की मदद से आप अपने plan के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है. यहाँ पर आप को ये भी पता चलता है कि आप ने कितना ram ख़रीदा है और आप के पास कितने cpu है. और तो आप को ये भी पता चलता है कि आप के data base में कितनी files use हुई है, और आप का total कितना data use हुआ है और आप के पास कितना data space खाली है use के लिए.

Cpanel को कैसे इस्तेमाल किया जाता है.

आज के वक़्त में maximum companies और bloggers अपनी website को host करने के लिए cpanel का ही इस्तेमाल करते है. यहा पर उनको अपनी website से related data base को manage करने में आसानी रहती है. अगर आप को कोई website को host करना है तो मै आप को यही सलाह दूँगा की आप हमेशा वो ही hosting privider को choose करे जो आप को अपने plan में cpanel दे. ताकि आप के लिए website files को manage करने में easy हो.

आप hosting buy करते हुए ये भी ध्यान रखे कि आप जिस से hosting ले रहे है उन के cpanel में basic use लायक चीज़े है या नही. क्यो की आप नही चाहेंगे की आप को cpanel में security और अन्य मूलभूत सुविधाएँ न मिले. जब आप hosting खरीदें गे तो आप को आप के cpanel का id और passward आप के email account पर आ जायेगा और उस का इस्तेमाल कर के login कर ले तथा आप अपना password change कर ले.

Cpanel में कौन कौन से major tools उपलब्ध होते है.

तो चलिए अब cpanel के tools के बारे में जानते है.

१.File manager

File manager

जब आप cpanel में आप login कर लेंगे तो आप को वहाँ पर बहुत सारे options देखेंगे. तो आप confuse मत होना. आप को बस थोड़े से knowlege की जरूरत है ताकि आप अपने cpanel की मदद से website को manage कर पाए. आपके cpanel में सबसे ऊपर install apps दिखेगे. और second row में आप को आपका file manager और उस से related options मिलेंगे. जहाँ पर आप की website का data रखते है और files को देख सकते है. इसे आप ऐसे समझिये आप जब कोई phone को use करते है तो आप को सभी files को manage करने और data को देखने के लिए आप phone के file manager का use करते है. यहाँ पर आप के mobile phone की सभी प्रकार की files मौजूद होती है. और आप उन को easily देख और manage कर सकते है. ठीक उसी तरह cpanel में भी आप की सभी websites की files मौजूद रहती है.

२.Database

database
database

Data base में आप को php my admin file मिलता है. जहाँ पर आप के website का data होता है. इसके बाद आता है mysql database इस option की मदद से आप अपने webiste को सीधा अपने computer से mange कर सकते है. और किसी भी file को update कर सकते है. अगर आप को mysql database का use करना है तो आप को सबसे पहले अपना mysql में account बनाना होगा. आप यहाँ पर username में कुछ भी जो आप को पसंद है वो रख सकते है. फिर आप को password select करना है और create username पर click करेगे तो आप का mysql का account बन जायेगा. आप को आपके सभी accounts नीचे की तरफ मिलेंगे. जिनको आप अपने तरीके से manage कर सकते है.

३.Domains

domains
domains

Domains में आप के सभी websites जो आप इस cpanel में use कर रहे है उन की जानकारी होती है. आप यहाँ पर सभी domains को manage कर सकते है. अगर आप चाहे तो नए domain को add या delete कर सकते है. अगर आप को अपने domain से related subdoain बनाना है तो उसका option भी यही मिलेगा. अगर आप को अपने domain से related कोई subdomain बनाना है तो आप subdomain वाले option पर click करेंगे तो आप नई page पर आ आएँगे यह पर आप अपनी मर्ज़ी से कोई भी subdoamin बना सकते है. अब आता है redricts वाले option पर यहाँ पर आप किसी भी पुराने domain को किसी नए domain पर तो redirect कर सकते है आप को बस इस option पर click करना है और आप इस option के अंदर आ जायेंगे. अब आप को किसी पुराने domain को select करना है और नए domain का address डालना है जिस domain पर आप ridrect करना चाहते है. और फिर उसे save कर दे.

अब last में DNS zone आता है आप यहाँ पर domain से related settings को configure कर सकते है.

४.Email

email

इस मे आप को email से related बहुत से option मिलते है. पर इसका मुख्य तौर पर email address बनाने के लिए उपयोग हित है. आप इस के द्वारा अपने domain से related mail account बना सकते है है. example के लिए मान लीजये आप के पास hindiideas का domain name है और इसी domain name से email account बनाना चाहते है, तो आप इस option में आकर email account पर click करना है. और फिर एक नया page open होगा. यहाँ पर आप को add new email account का लिखा दिखेगा. अब आप को email का name डालना है जो भी आप को पसंद हो और फिर passward choose करना है. अगर आप चाहे तो अपने email account के लिए space भी decide कर सकते है नही तो आप unlimited भी रख सकते है. और अब आप create account पर click कर दे. आप का email account आप के domain के साथ बन जायेगा. आप को यहाँ पर बहुत सारे email से related options मिलते है पर इस में जो interesting है वो है auto responder. आप यह पर कोई भी auto reply set कर सकते है ताकि जब कोई व्यक्ति आप को मेल कर तो computer उसको एक reposnd mail send कर दे.

५.Metrics

metrics

Matrics में आप अपने website के bandwith को देख सकते है कि आप की website कितना bandwith use हो रहा है और आप यह पर अपने visitor को देख सकते है कि आप की website पर daily कितने visitors आ रहे है. basically आप यहां पर अपनी website के traffic से related जानकारी को प्राप्त कर सकते हैं.

६.Security

security

इस section में आप को security controls के options मिल जायेंगे जैसे कि security check, SSL, TLS options etc. यह पर जो option सबसे काम मे आता है वो ये है कि ssl ओर TLS. आप इस कि मदद से अपने website में ssl certificate को बहुत आसानी से और बिना किसी coding की मदद से ssl certificate को install कर सकते है.

७.Applications

Application

Application वाले section में आप को सभी प्रकार से web development applications मिल जाएगी. जिनकी मदद से आप one click में आप website को configure कर सकते है. wordpress एक ऐसा ही popular application है जिस की मदद से आप website को develop कर सकते है वो भी बिना coding की जानकारी के.

Cpanel के Benefits

  • आप cpanel की मदद से files को easily manage कर सकते है.
  • यह सभी के लिए user friendly है और इसे कोई भी व्यक्ति use कर सकते है.
  • Cpanel हमारे काम से लगने वाले affert के साथ साथ हमारा time भी बचाता है.
  • Cpanel में आप किसी भी चीज़ को बिना coding से configure कर सकते है.

 

Conclusion

तो दोस्तों आपने इस post की मदद से जाना कि cpanel क्या होता है, और cpanel किस प्रकार से काम करता है और cpanel के अंदर क्या-क्या functions होते हैं. तथा कौन से tools आपके लिए उपयोगी हैं. इस post में आपने यह भी जाना की cpanel use करने के benefits क्या होते हैं.

आप किसी website को चलाते हैं, तो आपके लिए यह जाना बहुत ही जरूरी है कि cpanel किस प्रकार से काम करता है. इसमे आप किस प्रकार से अपनी website को host कर सकते हैं. cpanel एक ऐसा softeare है जो आप की website को manage करने की शुभिधा देता है वो भी बिना किसी coding का use किये. यह आप के हर काम को आसान बना देता है चाहे files को manage करना हो या security को check करना हो.

दोस्तों आप को हमारी यह जानकारी कैसी लगी आप हमें कॉमेडी के द्वारा ज़रूर बताएं तथा इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि उनको भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो सके. अगर आप के मन मे इस post से संबंधित कोई प्रश्न है तो हम से पूछ सकते है हमे जबाब देने में खुशी होगी.

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम vivek dobriyal है. और में एक blogger हु। मैने engineering की है। और अब अपने blogs के ज़रिए infromation को सभी के साथ शेयर करता हु। मेरे blogs हमेशा research based होते है और मै अपने visitors को हमेशा सही जानकारी ही देने की कोसिस करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here