कम्प्यूटर एक्सपर्ट (Computer expert) कैसे बने

आज के इस पोस्ट में जानेंगे कि computer expert कैसे बनते है। आज के समय मे कम्प्यूटर knowledge  कोई Special Skill न होकर सामान्य जरूरी ज्ञान हो गया है.  अगर आप शिक्षित है तो इसका मतलब है कि जो शिक्षा आपने प्राप्त की है उसके अलावा आपको Computer का भी अच्छा ज्ञान है और यही बात हमें कम्प्यूटर एक्सपर्ट बनने के लिए प्रेरित करती है क्योकि जितने ज्यादा कम्प्यूटर की Knowledge वाले लोग होंगे उतने ही ज्यादा कम्प्यूटर भी होंगे और अगर बहुत सारे कम्प्यूटर होंगे तो वे खराब भी होंगे और फिर उन्हे ठीक करने के लिए किसी न किसी एक्सपर्ट की आवश्यकता भी होगी

और यही बात है कि हमे computer expert होना चाहिए क्योकि बहुत ही बडा और अच्छा Field  है जहॉं आपको पैसा और मजा दोनो मिलता है क्योकि कम्प्यूटर पर Net shopping  और अपने ज्ञान मे लगातार बढोत्तरी करना एक computer expert की पहली पहचान होती है और अगर computer expert बनना चाहते हो तो हम आपको बताते है कि आप किस प्रकार से हमारे द्वारा बताये गये तरीके से बन सकते है।

computer expert kese bane

कम्प्यूटर Basic Skill

अगर आप नये है और computer expert बनना चाहते हो तो सबसे पहले आपको कम्प्यूटर का बेसिक ज्ञान होना बहुत आवश्यक है। कुछ बेसिक नोलिज के बारे मे मै नीचे बता रहा हूँ।

कम्प्यूटर चलाना सीखे (Learn how to run a computer) :-  सबसे पहले आपको कम्प्यूटर चलाना आना चाहिए इसलिए सबसे पहले कम्प्यूटर को ऑन-ऑफ करना सीखे और उसके बाहरी पार्टस को लगाना सीखे। जैसे- कीबोर्ड, माउस और मोनीटर को सीपीयू से जोडना और पावर केबिल लगाना।

कुछ बेसिक प्रोगराम सीखे (Learn some basic programs). :-  कम्प्यूटर चलाना सीखने के बाद आपको कुछ बेसिक प्रोगरामस जैसे- माइक्रोसोफट वर्ड, एक्सेल, पावरपाइंट, एक्सेस, पेन्टब्रश और फोटोशोप आदि सीखने चाहिए या ऐसे कहे कि आप इन प्रोगरामस को सीखेंगे अगर आप कम्प्यूटर एक्सपर्ट बनना चाहते है।

हार्डवेयर (Hardware) :-  कम्प्यूटर के हार्डवेयर की जानकारी प्राप्त करे कि आपके कम्प्यूटर मे कौन-कौन से हार्डवेयर जुडे हुए है उदाहरण के लिए माउस, कीबोर्ड, स्पीकर मोनीटर और सीपीयू और बेहतर होगा अगर आप यह भी जानकारी प्राप्त कर ले कि आपके कम्प्यूटर के सीपीयू के अन्दर कौन-कौन से सामान लगे हुए है और क्या उनकी कैपेसिटि है।

सभी प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम को चलाना सीखे –आपको सभी प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टमस को चलाने का ज्ञान प्राप्त करना होगा क्योकि एक एक्सपर्ट को सभी ऑपरेटिंग सिस्टम चलाने आने चाहिए क्योकि पता नही कब और किस सिस्टम पर काम करना पड जाये और आप अपने आपको कमजोर महसूस करने लगे। विन्डो ऑपरेटिंग सिस्टम, काली लिनक्स और मैक ओएस कुछ ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण है।

फाइल और फोल्डर :-आपको एक कम्प्यूटर एक्सपर्ट बनने के लिए अपने कम्प्यूटर मे उपस्थित फाइलो और फोल्डर्स को मैनेज करके रखने का तरीका भी आना चाहिए जैसे मै आपको एक म्यूजिक के उदाहरण से बताता हूँ  जैसे हमारे पास बहुत से गानो का संग्रह है उसमे से हमे कोई गाना ढूंढना है तो हम नही ढूंढ पाते है इसलिए तो हमे उन्हे एक अलग फोल्डर मे अन्य फाइलो से अलग रखना चाहिए फिर उस फोल्डर मे पुराने और नये गानो को अलग-अलग रखना चाहिए उसमे भी गायक के हिसाब से अलग फोल्डर बना सकते है फिर देश भक्ति गीत, भजन, गजल और प्यार भरे गानो के लिए अलग-अलग फोल्डर बने होने चाहिए। अब अगर आप कुछ ढुंढते है तो आपको आसानी से मिल जायेगा।

बडी फाइलो को कम्प्रेस करना:-आपके कम्प्यूटर मे जो भी बडी-बडी फाइले होती है उन्हे कम्प्रेस करके रखने से हम हार्डडिस्क का स्पेस बचा सकते है जिससे हमारे कम्प्यूटर की स्पीड बनी रहती है और स्पेस भी बचा रहता है जब हमे जरूरत होती है तो हम अपने कम्प्यूटर से उन फाइलो को फिर से खोल सकते है।

शोर्टकट (Shortcuts)

कम्प्यूटर मे टाइपिंग करते समय अगर आप बार-बार माउस से क्लिक करके काम करते है तो आपको बहुत समय लगता है और टूलबार के बन्द हो जाने या फिर खो जाने पर तो बहुत ही ज्यादा परेशानी का सामना करना पड सकता है इसलिए कम्प्यूटर को चलाने के लिए आपको कीबोर्ड के शोर्टकट की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है उसी का उपयोग करके आप कम्प्यूटर एक्सपर्ट बन सकते हो। कम्प्यूटर के शोर्टकट हर जगह पर कार्य करते है यदि आप किसी प्रोगराम मे कार्य कर रहे है तो भी और यदि आप विन्डो पर कार्य कर रहे है तब भी। इन्टरनेट पर काम करते समय भी आप शार्टकट का उपयोग कर सकते है

कम्प्यूटर की प्राबलम्स

अपने कम्प्यूटर की प्राबलम्स को अपने आप ठीक करने की कोशिश करे और अपने दोस्तो और जानने वालो के कम्प्यूटर की प्राबलम्स को ठीक करने की कोशिश करे। अब सवाल यह उठेगा कि कैसे हम किसी कम्प्यूटर की प्राबलम्स को ठीक कर सकते है अगर आपको प्राब्लम की जानकारी है तो आप इन्टरनेट पर सर्च करके उसका समाधान पा सकते है पहली बार आपको बहुत समय लगने वाला है लेकिन जब आप एक बार ठीक कर देंगे तो आपको उसी प्राबलम को ठीक करने मे कोई खास दिक्कत नही आयेगी और आप धीरे से कम्प्यूटर एक्सपर्ट बनने की दिशा मे अपना बडा कदम बढा देते है क्योकि एक कम्प्यूटर एक्सपर्ट तभी बन सकता है जब वह किसी कम्प्यूटर की प्राबलम्स को ठीक करना सीख जाये।

Knowledge of computer

जिस विन्डो के उपर आप काम कर रहे है उस विन्डो की पूरी जानकारी आपको होना बहुत आवश्यक है क्योकिं अगर विन्डो अगर क्रप्ट हो जाये तो आपको उसे ठीक करना आना चाहिए वो खराबी चाहे आवाज की हो या फिर किसी फाइल के न खुलने की लेकिन आपको उसे रिपेयर करना और दोबारा से इन्सटाल करना आना चाहिए।

Internet के बारे मे जानकारी प्राप्त करे 

एक एक्सपर्ट के लिए यह बहुत ही महत्तवपूर्ण है कि उसे इन्टरनेट की जानकारी है और वह इन्टरनेट पर अपनी समस्याओ के समाधान ढूंढ सकता है साथ ही जरूरी डाटा और कीवर्ड भी सर्च कर सकता है। आज के समय मे इन्टरनेट की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है और अगर आपके पास कम्प्यूटर है तो निश्चित है आपके पास इन्टरनेट भी होगा। क्योकि इन्टरनेट ही वह साधन है जो आपको एक्सपर्ट बनाता है।

Advanced skills

कम्प्यूटर की बेसिक नोलिज और हार्डवेयर की नोलेज के बाद हमारे लिए जरूरी स्कील होती है कि हमे कम्प्यूटर की एडवांस स्कील की जानकारी भी हो क्योकि ये वे स्किलस है जिनकी आज के समय मे बहुत ही अधिक जरूरत होती है उनके कुछ उदाहरण मै नीचे दे रहा हूँ।

कम्प्यूटर प्रोगरामिंग लैंगवेजः- कम्प्यूटर मे छोटे-छोटे प्रोगराम बनाना और उन्हे ठीक करना आपको आना चाहिए क्योकि यदि किसी प्रोगराम मे कोई फाल्ट होता है तो आप उसे तभी ठीक कर सकते है जब आपको प्रोगरामिंग लैंगवेज की नोलिज हो।

कम्प्यूटर सोफटवेयर :- कम्प्यूटर प्रोगरामिंग लैंगवेज को सिखने के बाद आपको कम्प्यूटर सॉफटवेयर बनाने की विधि के बारे मे जानकारी हासिल करनी चाहिए क्योकि प्रोगरामिंग लैंगवेज सिखने के बाद यही आपकी अगली सीढी है और कम्प्यूटर सोफटवेयर बनाना सीखने के बाद आप बहुत ज्यादा हद तक एक्सपर्ट बन जाते है।

नेटवर्किंग :-  अगर आपको किसी कम्पनी मे या आफिस मे कम्प्यूटर्स लगाने का काम मिलता है तो आपको वहॉ पर नेटवर्किंग जरूर करनी पडेगी। नेटवर्किंग मे सभी कम्प्यूटर्स को आपस मे जोड दिया जाता है जिससे कि मालिक जब चाहे किसी भी कम्प्यूटर से डाटा लेकर पता लगा सकता है कि उसकी कम्पनी या ऑफिस मे क्या हो रहा है। डाटा एक मास्टर कम्प्यूटर मे इकट्ठा होता रहता है जिससे कि उसके खराब होने का खतरा भी खत्म हो जाता है और एक स्थान पर डाटा होने के कारण उसे तुरन्त प्रोसेस भी किया जा सकता है। इसलिए नेटवर्किंग एक एक्सपर्ट के लिए बहुत ही अच्छा और जरूरी स्अेप है।

क्लाउड स्टोरेज (Cloud storage)

अपने कम्प्यूटर की मैमोरी और हार्डडिस्क के स्पेस को बचाये रखने के लिए जरूरी है कि हमारे पास एक ऐसा स्पेस हो जिसमे हम अपने डाटा को रख सके। जैसे गुगल ड्राइव 15जीबी तक का स्पेस फ्री मे देता है और 15जीबी का स्पेस कोई कम स्पेस नही होता है अपने डाटा और वर्क को रखने के लिए और अगर जरूरी है तो आप पे करके कितना भी स्टोरेज प्राप्त कर सकते है इसका सबसे बडा फायदा यह होता है कि आपका डाटा एकदम सुरक्षित रहता है और आपके कम्प्यूटर के खराब होने की दशा मे भी वह एकदम सही बना रहता है क्योकि आपका डाटा कम्प्यूटर ठीक होने के बाद वापस पाया जा सकता है। यही एक एक्सपर्ट की पहचान होती है।

एडवांस सिस्टम टिप्स 

एडवांस सिस्टम टिप्स का मतलब है कि आप अपने कम्प्यूटर को पूरी तरह से सुरक्षित बना कर रखे जिससे कि कोई वाइरस या बैड डाटा आपके कम्प्यूटर या आपके डाटा को कोई हानि ना पहुंचा सके और इसका सबसे अच्छा तरीका होता है एन्टीवायरस । एक अच्छा सा एन्अीवायरस अपने कम्प्यूटर मे हमेशा ही इन्सटाल करके रखे जिससे कि आपका कम्प्यूटर किसी भी प्रकार के वाइरस के हमले से पूरी तरह से सुरक्षित बना रहे और आपका डाटा सेफ रहे। साथ ही अपने कम्प्यूटर मे फायरवाल का इस्तेमाल करे जिससे आप अपने कम्प्यूटर और डाटा को किसी साइबर हमले से बचा सके।

Online blog and videos

अपनी नोलेज को बढाने के लिए या फिर अपनी समस्याओं के समाधान के लिए इन्टरनेट पर उपलब्ध ब्लॉग देख कर आप अपनी समस्या का समाधान कर सकते है आप अपने किसी भी टापिक के बारे मे गुगल पर सर्च करके अपनी किसी भी इच्छित पोस्ट या कीवर्ड की जानकारी प्राप्त कर सकते है साथ ही आप यूट्यूब पर विडियोज देख कर भी अपनी जानकारी प्राप्त कर सकते है। यूट्यूब बहुत ही अच्छा साधन है जहॉं पर ट्यूटोरियल बना कर आपको आपके सामने करके दिखाकर समझाया जाता है इससे आप अपनी योग्यता को और अधिक बढा सकते है।

सीखना बन्द न करे 

उपर लिखी बातो मे अगर आप एक्सपर्ट हो गये हो तो यह न माने कि अब आप पूरे एक्सपर्ट हो गये हो क्योकि इस इन्टरनेट के जमाने मे सबकुछ बहुत तेजी से बदलता है आपको लगातार सीखते रहने की जरूरत होती है क्योकि रोज नये-नये गैजेटस और सॉफटवेयरस लांच हो रहे है जो आपके सोचने के तरीके को ही बदल कर रख देते है और आपको यह मानने पर मजबूर करते है कि ऐसा भी हो सकता है जिसे हम सोच भी नही सकते थे। इसलिए अपने आपको अपडेट रखे और हमेशा सीखते रहे। कुछ बाते नीचे बता रहा हूॅ जिनको सिखना भी आपके लिए बहुत जरूरी है।

कम्प्यूटर हार्डवेयर :-

आपके कम्प्यूटर मे कौन-कौन से हार्डवेयरस लगे हुए है आपको यह जानकारी रखनी चाहिए और सबसे महत्तवपूण बात मार्केट मे कौन कौन से हार्डवेयरस उपलब्ध है और जा उपलब्ध नही है उन्हे कहां से प्राप्त किया जा सकता है।

  • बूट करने पर सिस्टम किस तरह काम करता है यह जानकारी आपको होनी चाहिए।
  • रैम किस प्रकार काम करता है और वह आपके कम्प्यूटर मे कितने जीबी मे लगा हुआ है आपको उसकी सही जानकारी रखनी चाहिए। रैम कहॉ पर कम्प्यूटर के हार्डवेयर मे लगा होता है।
  • प्रोसेसर किस प्रकार काम करता है आपको किस-किस प्रकार के प्रोसेसर की जानकारी है और प्रोसेसर के अनुसार हम कम्प्यूटर को किस प्रकार अपग्रेड कर सकते है।
  • अपने या ग्राहक के कम्प्यूटर मे ऑपरेटिंग सिस्टम को कैसे इन्सटॉल करे और किस ऑपरेटिंग सिस्टम पर कौन कौन से प्रोगराम काम करते है यह जानकारी प्राप्त करना बहुत ही जरूरी है।
  • आपके कम्प्यूटर मे स्थित हार्डडिस्क के अगर हमे पार्टिशन करने है तो हम उसके पार्टिशन किस प्रकार कर सकते है।
  • कम्प्यूटर मे ड्राइवर किस प्रकार से इन्सटाल किये जाते है कौन से ड्राइवर किस विन्डो मे इन्सटाल हो सकते है।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार के होते है।
  • कम्प्यूटर को एक नेटवर्क से कैसे जोडा जा सकता है।
  • अपनी फाइल को कैसे शेयर किया जाता है।
  • कही दूर बैठे अपने ग्राहक के कम्प्यूटर के साथ अपने कम्प्यूटर को रिमोट डेस्कटॉप कैसे बनाया जाता है।
  • किसी वेबसाइट को ब्लॉक कैसे करते है।
  • एन्टीवायरस कैसे काम करता है।
  • फायरवाल कैसे काम करता है।
  • यूजर कैसे बनाये जाते है।
  • फोन्ट कैसे अपलोड होते है।

आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे Like करें, अपने दोस्तों के बीच Share करें तथा कोई भी Question हो तो नीचे Comment करके जरूर पूछें।

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम vivek dobriyal है. और में एक blogger हु। मैने engineering की है। और अब अपने blogs के ज़रिए infromation को सभी के साथ शेयर करता हु। मेरे blogs हमेशा research based होते है और मै अपने visitors को हमेशा सही जानकारी ही देने की कोसिस करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here